माइक्रोसॉफ्ट का मैटरसिम AI मॉडल: नई रासायनिक सामग्री की खोज में क्रांति

Microsoft's MatterSim AI Model: Revolutionizing New Chemical Material Discovery
Microsoft's MatterSim AI Model: Revolutionizing New Chemical Material Discovery

माइक्रोसॉफ्ट के शोधकर्ताओं ने एक नया डीप लर्निंग मॉडल ‘मैटरसिम’ विकसित किया है, जो वास्तविक परिस्थितियों में पूरे पीरियोडिक टेबल के तहत सामग्री का सिमुलेशन कर सकता है। यह मॉडल नैनोइलेक्ट्रॉनिक्स, ऊर्जा भंडारण और स्वास्थ्य देखभाल के लिए नई सामग्री की खोज को तेज कर सकता है।

नई सामग्री का निर्माण: एक चुनौती

नई सामग्री का निर्माण करना एक चुनौतीपूर्ण कार्य है, क्योंकि यह अक्सर उनकी विशेषताओं की भविष्यवाणी करने की आवश्यकता होती है, जो अभी तक संश्लेषित नहीं हुई हैं।

मैटरसिम की विशेषताएँ

माइक्रोसॉफ्ट का कहना है कि “मैटरसिम डीप लर्निंग का उपयोग करके क्वांटम मैकेनिक्स के मौलिक सिद्धांतों से परमाणु अंतःक्रियाओं को समझता है, और इसे 0 से 5,000 केल्विन (K) और सामान्य वायुमंडलीय दबाव से 10,000,000 वायुमंडल तक की स्थितियों में सामग्री का सिमुलेशन करने में सक्षम बनाता है।”

मैटरसिम विभिन्न प्रकार की सामग्री, जैसे धातु, ऑक्साइड, सल्फाइड, हैलाइड और उनके विभिन्न अवस्थाओं जैसे क्रिस्टल, अमोर्फस ठोस और तरल के लिए सिमुलेशन को प्रभावी ढंग से संभालता है। यह मॉडल कस्टमाइजेशन विकल्प भी प्रदान करता है ताकि शोधकर्ता विशेष डेटा के साथ मॉडल को प्रशिक्षित कर सकें और जटिल भविष्यवाणी कार्यों को पूरा कर सकें।

‘मैटरसिम: सटीक और प्रभावी’

शोधकर्ताओं के अनुसार, मैटरसिम को एक बड़े डेटा सेट पर प्रशिक्षित किया गया है, जो विभिन्न तकनीकों के संयोजन से उत्पन्न किया गया है। यह ऊर्जा, परमाणु बलों और तनाव जैसी सामग्री गुणों की भविष्यवाणी करने की अनुमति देता है, जो पारंपरिक विधियों की तुलना में उच्च सटीकता के साथ करती है, और इसके लिए बहुत अधिक कंप्यूटेशनल पावर की आवश्यकता नहीं होती है।

पिछले साल, गूगल डीपमाइंड ने भी एक प्रणाली ‘ए-लैब’ विकसित की थी, जो सामग्री की संरचना की भविष्यवाणी कर सकती है, और बिना मानव हस्तक्षेप के संश्लेषण और विश्लेषण कर सकती है। कंपनी के शोधकर्ताओं का कहना है कि यह प्रणाली लगभग 400,000 स्थिर पदार्थों की भविष्यवाणी कर सकती है।

नई खोजों की दिशा में एक कदम

मैटरसिम का विकास नई सामग्री की खोज और उनके व्यवहार की भविष्यवाणी में एक महत्वपूर्ण कदम है। यह न केवल शोधकर्ताओं को मौजूदा सामग्री के गुणों को बेहतर ढंग से समझने में मदद करेगा, बल्कि यह भी सुनिश्चित करेगा कि नई सामग्री की खोज और विकास में तेजी आए।

निष्कर्ष

माइक्रोसॉफ्ट का मैटरसिम मॉडल नई सामग्री की खोज में एक नई क्रांति ला सकता है, जिससे नैनोइलेक्ट्रॉनिक्स, ऊर्जा भंडारण और स्वास्थ्य देखभाल जैसे क्षेत्रों में बड़े पैमाने पर लाभ हो सकता है। इसके सटीक और प्रभावी सिमुलेशन क्षमता के साथ, यह मॉडल शोधकर्ताओं को उनके अनुसंधान और विकास कार्यों में महत्वपूर्ण सहायता प्रदान कर सकता है।

इस प्रकार, मैटरसिम न केवल वर्तमान तकनीकी चुनौतियों का समाधान करता है, बल्कि भविष्य की खोजों और नवाचारों के लिए एक मजबूत आधार भी प्रदान करता है।

यह भी पढ़े: Apple के ‘Let Loose’ iPad इवेंट से क्या उम्मीद करें

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now
Team K.H.
Team K.H. एक न्यूज़ वेबसाइट का लेखक प्रोफ़ाइल है। इस टीम में कई प्रोफेशनल और अनुभवी पत्रकार और लेखक शामिल हैं, जो अपने विशेषज्ञता के क्षेत्र में लेखन करते हैं। यहाँ हम खबरों, समाचारों, विचारों और विश्लेषण को साझा करते हैं, जिससे पाठकों को सटीक और निष्पक्ष जानकारी प्राप्त होती है। Team K.H. का मिशन है समाज में जागरूकता और जानकारी को बढ़ावा देना और लोगों को विश्वसनीय और मान्य स्रोत से जानकारी प्राप्त करने की सुविधा प्रदान करना।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here