Sensex ने 76,810 के नए शिखर को छुआ, Nifty 23,398 पर बंद

वित्तीय और रियल्टी स्टॉक्स, जो घरेलू ब्याज दरों के प्रति संवेदनशील हैं, क्रमशः 0.29% और 2.24% चढ़े।

Sensex hits new peak of 76,810, Nifty closes at 23,398
Sensex hits new peak of 76,810, Nifty closes at 23,398

मुंबई: भारतीय शेयर बाजार में आज एक नया इतिहास रचा गया, जब Sensex ने 76,810 के अपने नए उच्चतम स्तर को छुआ और Nifty 23,398 पर बंद हुआ। वित्तीय और रियल्टी स्टॉक्स में तेजी के कारण बाजार ने उच्च स्तर को छुआ।

दिन के कारोबार के दौरान, Nifty ने 23,481 का नया इंट्राडे हाई दर्ज किया, जबकि Sensex ने 0.8 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 77,145 का उच्चतम स्तर छुआ। बाजार बंद होते समय Sensex 204 अंक या 0.3 प्रतिशत की बढ़त के साथ 76,810 पर बंद हुआ और Nifty 76 अंकों की बढ़त के साथ 23,398 पर समाप्त हुआ।

शेयर बाजार की मुख्य बातें:

  1. Sensex और Nifty में रिकॉर्ड बंदी: लगभग 2,046 शेयरों में बढ़त रही, 1,370 शेयरों में गिरावट और 83 शेयर अपरिवर्तित रहे। सात प्रमुख सेक्टर्स में तेजी दर्ज की गई।
  2. आईटी कंपनियों में उछाल: आईटी कंपनियों, जिनका मुख्य राजस्व भौगोलिक क्षेत्र अमेरिका है, ने 1.03% की बढ़त दर्ज की।
  3. वित्तीय और रियल्टी स्टॉक्स की बढ़त: वित्तीय और रियल्टी स्टॉक्स में क्रमशः 0.29% और 2.24% की वृद्धि हुई।
  4. बैंकिंग सेक्टर में मंदी: FMCG, ऊर्जा और बैंकिंग स्टॉक्स ने बाजार पर थोड़ा भार डाला। PSU बैंक इंडेक्स के साथ-साथ Nifty बैंक और प्राइवेट बैंक भी हल्के लाल निशान में थे।

प्रमुख स्टॉक्स का प्रदर्शन:

  • लार्सन एंड टुब्रो: इसके हाइड्रोकार्बन यूनिट ने ONGC से भारत के पश्चिमी तट पर स्थित ताप्ती दमण ब्लॉक में संशोधन के लिए एक आदेश प्राप्त करने के बाद 2% की वृद्धि दर्ज की।
  • Paytm: Paytm ने 6.35% की वृद्धि दर्ज की, यह घोषणा करने के बाद कि इसकी टिकट-बुकिंग सेवाएं सैमसंग वॉलेट पर भारत में उपलब्ध होंगी।

खुदरा मुद्रास्फीति में गिरावट:

भारतीय खुदरा मुद्रास्फीति मई में थोड़ी कम हुई, जिससे साल के अंतिम तिमाही में ब्याज दर में कटौती की उम्मीदें बढ़ीं। यह आर्थिक सुधार के संकेत दे रहा है, जिससे निवेशकों का विश्वास मजबूत हुआ है।

आज का दिन भारतीय शेयर बाजार के लिए ऐतिहासिक रहा, जब Sensex और Nifty ने नए उच्चतम स्तर को छुआ। वित्तीय और रियल्टी स्टॉक्स में तेजी के साथ-साथ आईटी कंपनियों के प्रदर्शन ने बाजार को समर्थन दिया। खुदरा मुद्रास्फीति में गिरावट के कारण भविष्य में ब्याज दरों में कटौती की उम्मीदें बढ़ीं, जिससे निवेशकों का विश्वास बढ़ा।

भारतीय शेयर बाजार ने आज यह साबित किया कि सही नीतियों और मजबूत आर्थिक संकेतकों के साथ, रिकॉर्ड ऊंचाईयां हासिल की जा सकती हैं। निवेशकों को उम्मीद है कि यह तेजी आने वाले समय में भी जारी रहेगी।

यह भी पढ़े: किस्मत का खेल: Citroen की भारत में बढ़ती उम्मीदें, CEO Thierry Koskas का बड़ा दावा

Team K.H.
Team K.H. एक न्यूज़ वेबसाइट का लेखक प्रोफ़ाइल है। इस टीम में कई प्रोफेशनल और अनुभवी पत्रकार और लेखक शामिल हैं, जो अपने विशेषज्ञता के क्षेत्र में लेखन करते हैं। यहाँ हम खबरों, समाचारों, विचारों और विश्लेषण को साझा करते हैं, जिससे पाठकों को सटीक और निष्पक्ष जानकारी प्राप्त होती है। Team K.H. का मिशन है समाज में जागरूकता और जानकारी को बढ़ावा देना और लोगों को विश्वसनीय और मान्य स्रोत से जानकारी प्राप्त करने की सुविधा प्रदान करना।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here