iPhone पर Meta AI: Apple कर रहा Meta, Claude, Gemini को लाने की तैयारी

एप्पल आईफोन उपयोगकर्ताओं के पास जल्द ही कई एआई विकल्प हो सकते हैं, जैसे Meta, Claude, और Gemini।

Meta AI on iPhone: Apple is preparing to bring Meta, Claude, Gemini
Meta AI on iPhone: Apple is preparing to bring Meta, Claude, Gemini

इस महीने की शुरुआत में आयोजित WWDC 2024 में, Apple ने एआई की तेजी से बढ़ती प्रवृत्ति के साथ तालमेल बनाए रखने के लिए एक बड़ा कदम उठाया –– उसने Apple Intelligence की घोषणा की। Apple ने यह भी घोषणा की कि उसने iPhones पर ChatGPT की पेशकश के लिए OpenAI के साथ साझेदारी की है। अब रिपोर्ट्स के अनुसार, Apple Meta से Meta AI को iPhones पर लाने के लिए बातचीत कर रहा है। इसी बीच, एंथ्रोपिक और पर्प्लेक्सिटी के साथ भी बातचीत चल रही है ताकि उनके एआई चैटबॉट्स को iPhones पर लाया जा सके।

क्रेग फेडरिगी का बयान:

WWDC 2024 में Apple के वरिष्ठ उपाध्यक्ष क्रेग फेडरिगी ने कहा, “हम इन बाहरी मॉडलों में से सर्वश्रेष्ठ के साथ शुरुआत कर रहे हैं,” जो Apple के अनुसार, OpenAI है। फेडरिगी ने वादा किया कि और भी एआई बाहरी मॉडल iPhones में जोड़े जाएंगे, और ऐसा प्रतीत होता है कि कंपनी इस वादे को पूरा करने की तैयारी कर रही है।

स्थानीय मॉडल का महत्व:

जो लोग नहीं जानते –– और इसमें काफी भ्रम भी है –– WWDC में घोषित सभी मॉडल Apple द्वारा पूरी तरह से बनाए गए हैं। स्थानीय मॉडल एक छोटा भाषा मॉडल है जिसमें 3 बिलियन पैरामीटर्स हैं, जो प्रत्येक विशिष्ट फीचर के लिए अनुकूलित किया गया है। डिफ्यूजन मॉडल भी इसी तरह काम करते हैं। कोई भी मॉडल जो स्थानीय या Apple क्लाउड पर चल रहा है, वह Apple द्वारा डिज़ाइन किया गया मॉडल है।

Apple के AI मॉडल भी व्यापक डेटा सेट्स पर प्रशिक्षित किए गए हैं। हालाँकि, यदि कोई क्वेरी विशेष रूप से जटिल है या Apple के प्रशिक्षण में शामिल वास्तविक दुनिया के डेटा से संबंधित नहीं है, तो उपयोगकर्ताओं को तीसरे पक्ष के एआई चैटबॉट्स जैसे ChatGPT का उपयोग करने के लिए निर्देशित किया जाएगा। भविष्य में, इसमें Meta AI या Claude भी शामिल हो सकते हैं।

उपयोगकर्ताओं को मिलेंगे कई AI विकल्प:

ऐसा लगता है कि iPhone उपयोगकर्ता Apple के अपने एआई मॉडल का उपयोग करके ऑन-डिवाइस जनरेटिव एआई फीचर्स जैसे नोट्स में गणित या रीराइट का उपयोग कर सकेंगे। लेकिन जब उपयोगकर्ताओं को उससे परे एआई की आवश्यकता होगी, तो नई रिपोर्टेड साझेदारियों के साथ, iPhone उपयोगकर्ता विभिन्न एआई टूल्स तक पहुंच सकेंगे। यह न केवल उपयोगकर्ताओं को एक विकल्प देगा, बल्कि उन्हें विभिन्न बॉट्स का भी अनुभव करने का अवसर मिलेगा जिनकी विभिन्न विशेषज्ञताएँ होती हैं। खास बात यह है कि Apple अभी भी Google के साथ Gemini को iPhones पर लाने के लिए बातचीत कर रहा है। यह कुछ ऐसा था जो WWDC 2024 लॉन्च से पहले भी रिपोर्ट किया गया था।

मल्टीपल AI चैटबॉट्स का लाभ:

कई AI चैटबॉट्स का एकीकरण न केवल Apple उपयोगकर्ताओं को अधिक विकल्प देगा, बल्कि Meta, Perplexity और Anthropic जैसे ब्रांडों को भी लाभ होगा, जो Apple के विशाल वितरण से लाभान्वित होंगे।

Apple Intelligence की उपलब्धता:

WWDC 2024 में लॉन्च के समय, Apple ने घोषणा की कि Apple Intelligence नए iPhones पर सितंबर में लॉन्च हो रहा है। लेकिन मौजूदा मॉडलों में, यह केवल टॉप-एंड iPhone 15 Pro और iPhone 15 Pro Max पर ही उपलब्ध होगा। कई लोग सोचते हैं कि Apple इस फीचर को सीमित मॉडलों तक सीमित कर रहा है ताकि आगामी फोन की बिक्री को बढ़ावा मिल सके, लेकिन Apple का कहना है कि इसके पीछे ठोस कारण है।

Apple Intelligence की विशेषताएँ:

Apple Intelligence एक स्टैंडअलोन ऐप या चैटबॉट नहीं है जैसे ChatGPT। इसके बजाय, यह ऑपरेटिंग सिस्टम के भीतर एक एकीकृत एआई लेयर है, जो विभिन्न कार्यों को बढ़ाती है। यह एक नए Siri, एआई-सहायता प्राप्त लेखन उपकरण, वास्तविक समय कॉल ट्रांसक्रिप्ट्स और कस्टम इमोजी जैसी विशेषताएँ पेश करेगा, जिनके लिए उच्च प्रसंस्करण शक्ति और मेमोरी की आवश्यकता होती है, जिससे वे केवल नवीनतम हार्डवेयर पर ही उपलब्ध होंगे। कंपनी का कहना है कि वह लोगों को एक आधा-अधूरा अनुभव देने से बेहतर है कि वह कुछ उपकरणों पर फीचर्स को रोल आउट न करें।

भारत में Meta AI और Google Gemini की शुरुआत:

इस बीच, Meta ने भी भारत में WhatsApp, Instagram और Facebook उपयोगकर्ताओं के लिए Meta AI की शुरुआत कर दी है। अन्य एआई सहायकों की तरह, Meta AI दैनिक कार्यों को प्रबंधित कर सकता है जैसे ईमेल लिखना, टेक्स्ट का सारांश बनाना और अनुवाद करना। हालाँकि इसकी उपलब्धता की घोषणा सोमवार को की गई थी, यह एक क्रमिक रोलआउट प्रतीत होता है। पिछले सप्ताह, Google ने भी भारत में Gemini ऐप और Gemini Advanced लॉन्च किया था। यह ऐप अब Google Play Store पर उपलब्ध है और इसमें हिंदी, बंगाली, गुजराती, कन्नड़, मलयालम, मराठी, तमिल, तेलुगु और उर्दू सहित नौ भारतीय भाषाओं का समर्थन है।

यह नई AI साझेदारियाँ Apple उपयोगकर्ताओं को अधिक विकल्प और बेहतर अनुभव प्रदान करेंगी, जबकि Meta, Perplexity, और Anthropic जैसे ब्रांडों को भी इसका लाभ मिलेगा।

यह भी पढ़े: Acer Swift Go 16 समीक्षा (2024): बजट में जबरदस्त परफॉर्मेंस और बैटरी लाइफ

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now
Team K.H.
Team K.H. एक न्यूज़ वेबसाइट का लेखक प्रोफ़ाइल है। इस टीम में कई प्रोफेशनल और अनुभवी पत्रकार और लेखक शामिल हैं, जो अपने विशेषज्ञता के क्षेत्र में लेखन करते हैं। यहाँ हम खबरों, समाचारों, विचारों और विश्लेषण को साझा करते हैं, जिससे पाठकों को सटीक और निष्पक्ष जानकारी प्राप्त होती है। Team K.H. का मिशन है समाज में जागरूकता और जानकारी को बढ़ावा देना और लोगों को विश्वसनीय और मान्य स्रोत से जानकारी प्राप्त करने की सुविधा प्रदान करना।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here