Apple कहती है कि वह 3 साल तक Android के साथ Apple Watch को संगत बनाने का प्रयास किया, लेकिन तकनीकी सीमाओं के कारण इसे छोड़ दिया

Apple Tried to Make Apple Watch Compatible with Android for 3 Years, but Technical Limitations Led to Abandonment
Apple Tried to Make Apple Watch Compatible with Android for 3 Years, but Technical Limitations Led to Abandonment

अमेरिका के डिपार्टमेंट ऑफ़ जस्टिस ने हाल ही में एक एंटीट्रस्ट केस दायर किया है जिसमें एप्पल को अपने मोबाइल एकोसिस्टम और Apple Watch जैसी डिवाइसों पर एक मोनोपॉली बनाए रखने का आरोप लगाया गया है।

एंड्रॉयड के साथ एप्पल वॉच को संगत बनाने का प्रयास

इस केस के तहत, जस्टिस डिपार्टमेंट ने यह उपयोग किया है कि एप्पल वॉच केवल Apple डिवाइस के साथ ही संगत है, जिसे वह एक मोनोपॉली कहता है। हालांकि, 9to5Mac की एक हाल की रिपोर्ट के मुताबिक, कुपेर्टिनो में स्थित टेक जायंट ने एंड्रॉयड के लिए एक एप्पल वॉच बनाने की विचार किया था और इसे संगत बनाने के लिए तीन साल तक काम किया था, लेकिन यह विचार छोड़ दिया गया क्योंकि “तकनीकी सीमाएं” के कारण यह संभव नहीं था।

रिपोर्ट का जिक्र

पिछले साल, ब्लूमबर्ग के मार्क गर्मान की एक रिपोर्ट में कहा गया था कि Apple इंजीनियर Apple Watch और हेल्थ ऐप को एंड्रॉयड डिवाइसों के साथ संगत बनाने पर काम कर रहे थे और इसका विकास “लगभग पूरा हो चुका था” जबकि आखिरकार इसे रद्द कर दिया गया। इसमें यह भी दावा किया गया है कि टेक जायंट ने ‘व्यावसायिक मूल्यांकन’ को कारण बताया हो सकता है कि Apple वॉच एंड्रॉयड डिवाइसों के साथ संगत नहीं है।

Anticompetitive मामले का हल

हाल के केस में Apple के खिलाफ विभिन्न Anticompetitive दुरुपयोगों की शिकायत की गई है और यह आरोप लगाता है कि टेक जायंट ने उन विधियों का उल्लंघन किया है जो उसे अपने आईफोन एकोसिस्टम में बंद करते हैं। स्मार्टवॉचेस के मामले में, केस का दावा है कि प्रतिस्पर्धी स्मार्टवॉचों को उनके आईफोन से कनेक्ट करने पर मुख्य कार्यक्षमताएं दी नहीं गईं, जिससे एप्पल वॉच को अन्य स्मार्टवॉचेस को अन्य किताबें न मिलने से एप्पल वॉच को अनुचित लाभ मिला।

Apple की पक्षपाती नीति पर सवाल

इस मामले में, टेक जायंट के खिलाफ लागू की गई केस में Apple की पक्षपाती नीति पर सवाल उठे हैं। उपयोगकर्ताओं को अपने आईफोन एकोसिस्टम में बांधकर रखने के लिए एप्पल के खिलाफ कई आरोप उठाए गए हैं।

क्या है आगे की योजना?

वह आगे की योजना क्या है, इसे अब अब नहीं कहा गया है। लेकिन इस घटना से साफ है कि Apple Watch को एंड्रॉयड संगत बनाने की योजना की गई थी लेकिन तकनीकी सीमाओं के कारण यह अंततः संभव नहीं हो सका। एप्पल के इस कदम से इंटरनेट उपयोगकर्ताओं के बीच बहस और सोशल मीडिया पर चर्चा शुरू हो गई है।

इसके अलावा, यह खुलासा भी करता है कि टेक्नोलॉजी कंपनियां अपने उत्पादों को आगे बढ़ाने और अपनी उपयोगकर्ता बेस को बढ़ाने के लिए नए उपायों की खोज में हमेशा लगी रहती हैं।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now
Team K.H.
Team K.H. एक न्यूज़ वेबसाइट का लेखक प्रोफ़ाइल है। इस टीम में कई प्रोफेशनल और अनुभवी पत्रकार और लेखक शामिल हैं, जो अपने विशेषज्ञता के क्षेत्र में लेखन करते हैं। यहाँ हम खबरों, समाचारों, विचारों और विश्लेषण को साझा करते हैं, जिससे पाठकों को सटीक और निष्पक्ष जानकारी प्राप्त होती है। Team K.H. का मिशन है समाज में जागरूकता और जानकारी को बढ़ावा देना और लोगों को विश्वसनीय और मान्य स्रोत से जानकारी प्राप्त करने की सुविधा प्रदान करना।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here