जानें क्यों BJP फिर से आपातकाल की बात कर रही है?

आपातकाल विरोधियों ने बदल लिए हैं पक्ष, BJP खुद को एकमात्र कांग्रेस विरोधी ताकत के रूप में देखती है। इस आंदोलन ने उसे हिंदुत्व के परे एक पहचान दी।

Know why BJP is talking about emergency again?
Know why BJP is talking about emergency again?

आपातकाल का मुद्दा फिर से चर्चा में क्यों?

कांग्रेस पर संविधान बदलने के आरोपों से घिरी BJP ने एक बार फिर आपातकाल का मुद्दा उठाया है। सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 18वीं लोकसभा सत्र की शुरुआत आपातकाल का उल्लेख करते हुए की। मंगलवार को, इंदिरा गांधी द्वारा लगाए गए आपातकाल की 50वीं वर्षगांठ पर, BJP ने देशभर में कार्यक्रम आयोजित किए और कांग्रेस को निशाने पर लिया।

BJP के लिए आपातकाल का महत्व क्या है?

कई नेता जो आपातकाल विरोधी आंदोलन के अग्रणी थे, अब विपक्षी गठबंधन INDIA का हिस्सा हैं। लालू प्रसाद यादव और मुलायम सिंह यादव, जो आपातकाल के दौरान जेल में थे, अब इस गठबंधन के प्रमुख नेता हैं। इससे BJP खुद को एकमात्र पार्टी मानती है जो कांग्रेस का लगातार विरोध करती रही है, 1974-75 के जेपी आंदोलन से लेकर आज तक।

BJP की आपातकाल की पिच कैसे पूरी होती है?

कांग्रेस ने RSS पर केवल हिंदुत्व के मुद्दों को उठाने और स्वतंत्रता संग्राम में भूमिका न निभाने का आरोप लगाया है। आपातकाल का मुद्दा BJP के लिए इसका उत्तर है, जहां RSS और इसके सहयोगी संगठन जैसे जनसंघ और ABVP ने सक्रिय भूमिका निभाई थी। अनेक नेता और कार्यकर्ता, जैसे एल के आडवाणी, अटल बिहारी वाजपेयी और अरुण जेटली, जेल गए थे।

BJP ने आपातकाल विरोधी धरोहर को कैसे बनाया?

आपातकाल हटने के बाद 1977 के चुनावों में जनसंघ की भूमिका ने उसे बड़ा लाभ दिया। जनता पार्टी बनी और RSS से जुड़े नेता वाजपेयी, आडवाणी और बृज लाल वर्मा केंद्रीय मंत्री बने। यह पहली बार था जब RSS से जुड़े नेता केंद्र सरकार में मंत्री बने थे। आपातकाल की ज्यादतियों ने कांग्रेस की 1971 की सैन्य जीत की चमक को भी फीका कर दिया।

कांग्रेस ने कैसे किया जवाब?

कांग्रेस ने अब खुले तौर पर मान लिया है कि आपातकाल एक गलती थी। मार्च 2021 में राहुल गांधी ने कहा था कि आपातकाल एक गलती थी। उन्होंने यह भी कहा कि कांग्रेस ने संस्थानों पर कब्जा करने की कोशिश नहीं की, जैसा कि अब हो रहा है।

BJP का आपातकाल का हथियार:

BJP ने लगातार आपातकाल का इस्तेमाल कांग्रेस और गांधी परिवार को तानाशाही के रूप में प्रकट करने के लिए किया है। मंगलवार को, मोदी ने अपने संदेश में कहा कि आपातकाल थोपने वाली मानसिकता अभी भी जीवित है और लोग इसे देख चुके हैं।

कांग्रेस की प्रतिक्रिया:

कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि मोदी जी, देश भविष्य की ओर देख रहा है लेकिन आप अपनी विफलताओं को छिपाने के लिए अतीत को कुरेदते रहते हैं। पिछले 10 सालों में आपने 140 करोड़ भारतीयों को ‘अघोषित आपातकाल’ का एहसास कराया है, जिससे लोकतंत्र और संविधान को गहरा आघात पहुंचा है।

कांग्रेस नेता पी चिदंबरम ने कहा कि प्रधानमंत्री ने कहा कि आपातकाल हमें संविधान की रक्षा करने की याद दिलाता है। बहुत सही… संविधान ने लोगों को दूसरी आपातकाल से बचने की याद दिलाई और उन्होंने BJP की महत्वाकांक्षाओं को नियंत्रित करने के लिए मतदान किया।

यह भी पढ़े: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के निवास पर NDA नेताओं की बैठक का पहला वीडियो सामने आया

Team K.H.
Team K.H. एक न्यूज़ वेबसाइट का लेखक प्रोफ़ाइल है। इस टीम में कई प्रोफेशनल और अनुभवी पत्रकार और लेखक शामिल हैं, जो अपने विशेषज्ञता के क्षेत्र में लेखन करते हैं। यहाँ हम खबरों, समाचारों, विचारों और विश्लेषण को साझा करते हैं, जिससे पाठकों को सटीक और निष्पक्ष जानकारी प्राप्त होती है। Team K.H. का मिशन है समाज में जागरूकता और जानकारी को बढ़ावा देना और लोगों को विश्वसनीय और मान्य स्रोत से जानकारी प्राप्त करने की सुविधा प्रदान करना।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here