पंचायत सीज़न 3: नई कड़ियों से पहले सीज़न 1 और 2 को दोबारा देखने के 5 कारण

Panchayat Season 3: 5 reasons to rewatch seasons 1 and 2 before the new episodes
Panchayat Season 3: 5 reasons to rewatch seasons 1 and 2 before the new episodes

पिछले दो वर्षों के लंबे इंतजार को समाप्त करते हुए, ‘पंचायत’ का सीज़न 3 आपके छोटे पर्दे पर 28 मई को आ रहा है। सीज़न 1 और 2 में हंसी-मज़ाक और उत्साह का सजीव मिश्रण देखने को मिला। अभिषेक की फुलेरा के और रोमांचक किस्से आने वाले हैं और पहले के दोनों सीज़न को फिर से देखने का समय आ गया है। यहाँ हैं 5 कारण क्यों आपको इन कड़ियों में दोबारा डूबने की आवश्यकता है!

1. नायक का जादू

‘पंचायत’ के केंद्रीय पात्र, अभिषेक त्रिपाठी, एक युवा इंजीनियरिंग स्नातक जो ग्रामीण गांव फुलेरा में फंस जाता है, ने अपनी संबंधित करिश्मा से दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया है। अभिनेता जितेंद्र कुमार ने अपने असाधारण अभिनय से चरित्र की मर्मस्थल को पकड़ लिया है। नौकरी की खोज में विफलता के कारण वह फुलेरा के पंचायत सचिव बन जाते हैं।

अपनी स्थिति से बचने के लिए, वह एक प्रतियोगी परीक्षा पास करने और भारत के प्रमुख संस्थानों में प्रवेश पाने का निर्णय लेते हैं। जैसे-जैसे श्रृंखला आगे बढ़ती है, उनके नौकरी और स्थिति के प्रति प्रतिकर्षण में बदलाव देखने को मिलता है। सचिव जी की कहानी के मिल जाने से श्रृंखला की गति बनी रहती है।

2. तकनीकी उत्कृष्टता

‘पंचायत’ की कहानी का क्रम और चरित्रों और संवादों के माध्यम से कहानी की प्रगति, एक महान कथा को दर्शाता है। स्क्रिप्ट-चालित श्रृंखला में शानदार निर्देशन और कुशल अभिनय का उपयोग किया गया है, जिससे यह प्रमुखता में आई है। श्रृंखला का अधिकांश हिस्सा हल्के और हास्यपूर्ण स्वर में प्रस्तुत किया गया है जो दर्शकों को मनोरंजित रखता है।

ध्वनि और संपादन भी इसी के पक्ष में योगदान करते हैं। सीज़न 2 के अंतिम एपिसोड में राहुल पांडे के निधन की घटना को दर्शाते हुए, कुछ दृश्यों में स्वर में बदलाव भी दिखाई देता है।

3. दिल से जुड़ी कहानी

‘पंचायत’ के हर पात्र अद्वितीय और दिलचस्प हैं। अपनी व्यक्तिगत भिन्नताओं के बावजूद, पूरे गांव में जब भी कोई संकट आता है, सब मिलकर खड़े होते हैं। सीज़न 1 के तीसरे एपिसोड में एक शादी का दृश्य है, जहाँ पूरा गांव मिलकर मदद करता है। सीज़न 2 के आठवें एपिसोड में, पूरा गांव सैनिक राहुल पांडे के निधन का शोक मनाता है और उनके पिता प्रहलाद पांडे को दुख से उबरने में मदद करता है।

गांव की महिलाएँ विधायक को गांव में प्रवेश करने से रोकने के लिए कदम उठाती हैं। सीज़न 1 के पांचवें एपिसोड में, सचिव जी पर पंचायत कार्यालय से मॉनिटर चुराने का आरोप लगाया जाता है। इसके बाद वह अपने गाँव के एकरूपता जीवन के बारे में ब्रेकडाउन करते हैं। बाद में, विकास, प्रधान जी और प्रहलाद उन्हें खुश करने की कोशिश करते हैं।

4. जमीनी स्तर की समझ

‘पंचायत’ ग्रामीण जीवन की एक झलक पेश करती है। पूरी श्रृंखला उत्तर प्रदेश के फुलेरा नामक गाँव में सेट की गई है। श्रृंखला में, अभिषेक के दोस्तों ने कई बार उल्लेख किया है कि वह “शासन के जमीनी स्तर का अनुभव” कर रहे हैं। यह अनुभव कभी-कभी कड़वा-मीठा होता है।

गाँव में बुनियादी सुविधाओं की कमी, जैसे बिजली और पानी की कमी, आँखें खोलने वाली है। प्रत्येक एपिसोड गाँव जीवन के एक नए पहलू को उजागर करता है। श्रृंखला बिना सीधे सामना किए पितृसत्ता और दहेज जैसी समस्याओं पर भी प्रकाश डालती है।

5. छोटे लेकिन दिलचस्प विवरण

श्रृंखला कई ऐसे प्रतीकात्मक चित्र प्रस्तुत करती है जो कहानी के लिए महत्वपूर्ण हैं। पंचायत कार्यालय मुख्य स्थान है जहाँ कहानी चलती है। यह छोटा पीला भवन सीधे या अप्रत्यक्ष रूप से कहानी के इर्द-गिर्द घूमता है। भवन के बाहर स्थित पानी की टंकी गाँव का सबसे सुंदर दृश्य देने वाली जगह है।

यह अभिषेक और रिंकी की पहली मुलाकात की जगह भी है और सचिव जी की पसंदीदा चाय की जगह भी। प्रधान जी के फोन की ‘रिंकी के पापा’ रिंगटोन भी कहानी का एक मजेदार हिस्सा है। यदि आपने श्रृंखला देखी है, तो आप जानते होंगे कि कहानी में लौकी (घिया) का क्या महत्व है। प्रधान जी को इसे उपहार में देना पसंद है और इसने श्रृंखला में कई मजेदार क्षण दिए हैं।

सीज़न 3 में सचिव जी की वापसी, प्रहलाद के शोक से उबरने और बहुत कुछ कवर किए जाने की संभावना है! शो देखने के बाद हमें बताएं कि आपका अनुभव कैसा रहा।

यह भी पढ़े: काजोल ने दी सुहाना खान को जन्मदिन की बधाई: ‘इस प्यारी लड़की’ | अनन्या पांडे और दोस्तों का प्यार

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now
Team K.H.
Team K.H. एक न्यूज़ वेबसाइट का लेखक प्रोफ़ाइल है। इस टीम में कई प्रोफेशनल और अनुभवी पत्रकार और लेखक शामिल हैं, जो अपने विशेषज्ञता के क्षेत्र में लेखन करते हैं। यहाँ हम खबरों, समाचारों, विचारों और विश्लेषण को साझा करते हैं, जिससे पाठकों को सटीक और निष्पक्ष जानकारी प्राप्त होती है। Team K.H. का मिशन है समाज में जागरूकता और जानकारी को बढ़ावा देना और लोगों को विश्वसनीय और मान्य स्रोत से जानकारी प्राप्त करने की सुविधा प्रदान करना।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here