NEET-UG काउंसलिंग 2024: नई तारीख पर अपडेट

NEET-UG Counselling 2024: Update on new date
NEET-UG Counselling 2024: Update on new date

NEET-UG 2024 काउंसलिंग: नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट-अंडरग्रेजुएट (NEET-UG) काउंसलिंग सत्र को अगली सूचना तक स्थगित कर दिया गया है।

नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) ने पहले सुप्रीम कोर्ट को बताया था कि काउंसलिंग प्रक्रिया 6 जुलाई 2024 से शुरू होगी। हालांकि, मेडिकल काउंसलिंग कमेटी (MCC) ने NEET-UG काउंसलिंग 2024 के लिए विस्तृत अधिसूचना और शेड्यूल साझा नहीं किया।

मुद्दों की जड़ और जांच

NTA, जो MBBS, BDS, AYUSH और अन्य संबंधित पाठ्यक्रमों के लिए परीक्षाओं का संचालन करता है, और केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय, मई 5 को आयोजित परीक्षा में प्रश्न पत्र लीक से लेकर परीक्षा में नकल तक के आरोपों पर छात्रों और राजनीतिक दलों के विरोध और मीडिया बहस का केंद्र रहा है।

परीक्षा के परिणाम 14 जून को घोषित होने की उम्मीद थी, लेकिन उत्तर पुस्तिकाओं के मूल्यांकन के पहले पूरा हो जाने के कारण परिणाम 4 जून को घोषित कर दिए गए थे।

NTA के इतिहास में अभूतपूर्व 67 छात्रों ने एक पूर्ण 720 स्कोर किया, जिसमें हरियाणा के फरीदाबाद के एक केंद्र से छह छात्र शामिल थे, जिससे अनियमितताओं पर संदेह पैदा हुआ। NEET-UG में ग्रेस मार्क्स प्राप्त करने वाले कम से कम 1,563 उम्मीदवारों को पुनः परीक्षा देने के लिए कहा गया था, हालांकि उनमें से 750 ने इसे छोड़ दिया।

कथित पेपर लीक की जांच केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) को सौंपी गई, जिसने अब तक प्रमुख साजिशकर्ता अमन सिंह सहित छह व्यक्तियों को गिरफ्तार किया है।

शुक्रवार को, केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में एक हलफनामा दायर कर NEET-UG 2024 की पुन: परीक्षा का विरोध किया। उन्होंने तर्क दिया कि ऐसा कदम शैक्षणिक कैलेंडर को बाधित करेगा और व्यापक प्रमाणों की कमी के कारण यह अनावश्यक है।

NTA ने भी शीर्ष अदालत में एक अलग हलफनामा दायर करते हुए तर्क दिया कि परीक्षा को रद्द करना “उत्पादकविरोधी” होगा और मेधावी छात्रों के करियर संभावनाओं को खतरे में डाल देगा, भले ही कदाचार के उदाहरण “सूक्ष्म”, “छिटपुट” और “बिखरे हुए” थे, और पहचान योग्य स्थानों पर होने वाले इन घटनाओं के लिए सख्त कार्रवाई की जा रही है।

NEET-UG 2024 काउंसलिंग की प्रक्रिया को अगली सूचना तक स्थगित कर दिया गया है, जिससे छात्रों में असमंजस और तनाव का माहौल बन गया है। सरकार और NTA द्वारा उठाए गए कदमों का उद्देश्य परीक्षा की निष्पक्षता और छात्रों के भविष्य की रक्षा करना है। इस स्थिति में अधिक स्पष्टता और समाधान की आवश्यकता है ताकि छात्रों को अपने शैक्षणिक और पेशेवर सपनों को साकार करने में किसी प्रकार की रुकावट का सामना न करना पड़े।

यह भी पढ़े: Vedanta के शेयरों में उछाल: पहली तिमाही में एल्यूमिनियम, लौह अयस्क और जिंक का उत्पादन बढ़ा

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now
Team K.H.
Team K.H. एक न्यूज़ वेबसाइट का लेखक प्रोफ़ाइल है। इस टीम में कई प्रोफेशनल और अनुभवी पत्रकार और लेखक शामिल हैं, जो अपने विशेषज्ञता के क्षेत्र में लेखन करते हैं। यहाँ हम खबरों, समाचारों, विचारों और विश्लेषण को साझा करते हैं, जिससे पाठकों को सटीक और निष्पक्ष जानकारी प्राप्त होती है। Team K.H. का मिशन है समाज में जागरूकता और जानकारी को बढ़ावा देना और लोगों को विश्वसनीय और मान्य स्रोत से जानकारी प्राप्त करने की सुविधा प्रदान करना।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here