डिजी यात्रा: अप्रैल में 14 नए हवाई अड्डों पर लॉन्च की संभावना

डिजी यात्रा फाउंडेशन के सीईओ ने बताया कि डिजी यात्रा अप्रैल के अंत तक 14 अधिक हवाई अड्डों पर लॉन्च किया जाने की संभावना है। जानें इस नई योजना के बारे में और उसके फायदों के बारे में अधिक जानकारी।

Digi Yatra: Potential Launch at 14 New Airports in April
Digi Yatra: Potential Launch at 14 New Airports in April

डिजी यात्रा फाउंडेशन के सीईओ सुरेश खड़कभवी ने PTI को बताया कि डिजी यात्रा को अप्रैल के अंत तक 14 अधिक हवाई अड्डों पर लॉन्च किया जाने की उम्मीद है।

डिजी यात्रा की सुविधाएं:

डिजी यात्रा के जरिए यात्री अपने यात्रा और पहचान पत्रों को जोड़ सकते हैं और पहले ही एक फेसियल स्कैन बना सकते हैं। यह प्रक्रिया फेसियल रिकॉग्निशन टेक्नोलॉजी (FRT) पर आधारित है और हवाई अड्डों पर यात्रियों को संपर्कहीन, बिना किसी समस्या के चेक पॉइंट पर आसान चलने की सुविधा प्रदान करती है।

वर्तमान में, यह सुविधा घरेलू यात्रियों के लिए 14 हवाई अड्डों पर उपलब्ध है और इसे अंतरराष्ट्रीय यात्रियों के लिए भी उपलब्ध कराने के लिए विभिन्न हितधारकों के साथ चर्चाएं चल रही हैं।

डेटा और गोपनीयता:

डिजी यात्रा के सीईओ ने यह बताया कि डिजी यात्रा में यात्रियों का कोई डेटा नहीं है। “यह केवल उपयोगकर्ता के फोन में है और यह यात्री के नियंत्रण में है,” उन्होंने बताया।

एक यात्री द्वारा डिजी यात्रा के लिए साझा किए गए डेटा को एक एन्क्रिप्टेड फॉर्मेट में संग्रहित किया जाता है।

अंतरराष्ट्रीय यात्रा के लिए सुविधा:

डिजी यात्रा को अंतरराष्ट्रीय यात्रा के लिए उपलब्ध कराने की चर्चाएं विदेश मंत्रालय और अन्य एजेंसियों के साथ चल रही हैं।

डिजी यात्रा की आधिकारिक शेयरहोल्डर:

डिजी यात्रा फाउंडेशन के शेयरहोल्डर हैं एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया (एएआई), कोचीन इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड (सीआईएल), बैंगलोर इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड (बायएल), दिल्ली इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड (डायल), हैदराबाद इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड (हायल) और मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड (एमआईएल)।

भारतीय हवाई यातायात:

भारत दुनिया में सबसे तेजी से बढ़ती हवाई यातायात बाजारों में से एक है और घरेलू हवाई यात्रा बढ़ रही है। 2023 में, घरेलू हवाई यात्रियों की संख्या 15.2 करोड़ से अधिक थी।

यह विकास निरंतर और सुरक्षित हवाई यात्रा के लिए महत्वपूर्ण कदम के रूप में देखा जा सकता है जो यात्रियों के लिए बेहतर अनुभव सुनिश्चित करने में मदद कर सकता है।

डिजी यात्रा क्या है?

डिजी यात्रा भारत में एक नई तकनीकी प्रक्रिया है जो हवाई यात्रियों को बिना किसी संपर्क के और सुविधाजनक तरीके से हवाई अड्डों में सामान्य यात्रा की प्रक्रिया को पूरा करने में मदद करती है। इस प्रक्रिया में, यात्री अपने यात्रा और पहचान पत्रों को जोड़ सकते हैं, एक फेसियल स्कैन बना सकते हैं, और बोर्डिंग पास को स्कैन करके एयरपोर्ट में प्रवेश कर सकते हैं।

यह सुविधा फेसियल रिकॉग्निशन टेक्नोलॉजी (FRT) का उपयोग करती है जो यात्री की पहचान करने में मदद करती है और सुरक्षा प्रक्रिया को तेजी से संपादित करती है। डिजी यात्रा की सुविधा के अभ्यर्थी को पहले एक ऐप पर रजिस्टर करना होता है और फिर वे हवाई यात्रा के लिए बोर्डिंग पास के साथ एयरपोर्ट पहुंच सकते हैं। इस तरह, डिजी यात्रा हवाई यात्राओं को स्मूथ और सुरक्षित बनाने में मदद करती है।

यह भी पढ़े: गूगल कर्मचारियों का वेतन कटौती का दावा, कंपनी ने कहा- वेतन बढ़ाएगी

SOURCEPTI Inputes
Team K.H.
Team K.H. एक न्यूज़ वेबसाइट का लेखक प्रोफ़ाइल है। इस टीम में कई प्रोफेशनल और अनुभवी पत्रकार और लेखक शामिल हैं, जो अपने विशेषज्ञता के क्षेत्र में लेखन करते हैं। यहाँ हम खबरों, समाचारों, विचारों और विश्लेषण को साझा करते हैं, जिससे पाठकों को सटीक और निष्पक्ष जानकारी प्राप्त होती है। Team K.H. का मिशन है समाज में जागरूकता और जानकारी को बढ़ावा देना और लोगों को विश्वसनीय और मान्य स्रोत से जानकारी प्राप्त करने की सुविधा प्रदान करना।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here